गुरुवार, 2 जुलाई 2015

जनता बचाती पाई-पाई


नेताओं के पास झण्ड़ा
कानून के पास ड़ंडा
सरकार के पास सत्ता
फिर भी लोकतंत्र बच्चा
दुश्मन हट्टा-कट्टा।।
हिन्दू-मुसलिम संग-संग
एक रूप एक रंग
दिल के रास्ते तंग
आपसी भाई-चारा
भाई भतिजावाद के आगे अंपग।।
बढती हुई महंगाई
सत्ता से दूर हुई सच्चाई  
खादिधारी खा रहें मिठाई
खाकिधारी चाट गए मलाई                
जनता की नही होती सुनबाई             
घोटाले करते सत्ता के नाई
जनता बचाती पाई-पाई।।
   तरूण कुमार, सावन                                                                                                
                                     द सी एक्सप्रेस समाचार-पत्र में प्रकाशित

6 टिप्‍पणियां: